संभाजी महाराज जिसे औरंगजेब भी डरता था | Facts About Sambhaji Maharaj

6
2003
संभाजी महाराज जिनसे औरंगज़ेब भी डरता था | Hidden Facts About Sambhaji Maharaj
संभाजी महाराज जिनसे औरंगज़ेब भी डरता था | Hidden Facts About Sambhaji Maharaj

संभाजी महाराज

इतिहास में कई ऐसे महान योद्धा हुए जिन का इतिहास पढ़ कर आज भी हमारे शरीर के रोंगटे खड़े हो जाते हैं|और उन्हीं योद्धाओं में से एक थे संभाजी महाराज जो छत्रपति शिवाजी महाराज के जेष्ट पुत्र थे |
तो चलिए जानते हैं संभाजी महाराज के बारे में सबसे रोचक बातें जिन्होंने हमेशा अपने जीवन में जन्म से लेकर वीरगति होने तक काफी संघर्ष किया |

संभाजी महाराज का जन्म 1657 में हुआ था | 2 साल की उम्र में ही संभाजी महाराज की मां का देहांत हो गया
और उनकी देखभाल उनकी दादी यानी जीजाबाई ने किया था |संभाजी महाराज कितने बुद्धिमान थे इस बात का अंदाजा आप इसी बात से लगा सकते हो मात्र 13 साल की उम्र में तेरा भाषाएं सीख गए थे | कहीं शास्त्र भी लिख डाले घुड़सवारी , तीरंदाजी , तलवारबाजी यह सब तो मानो जैसे इनके बाएं हाथ का खेल था |

संभाजी का पहिला युद्ध |

अपने 16 साल की उम्र में 7 किलो की तलवार लेकर पहला युद्ध लड़ने गए और जीत कर भी आए |

संभाजी महाराज जिनसे औरंगज़ेब भी डरता था | Hidden Facts About Sambhaji Maharaj

1681 में मराठा वीर छत्रपति शिवाजी महाराज उनका देहांत हुआ , लेकिन फिर भी संभाजी ने कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा और औरंगजेब को तहस-नहस करने निकल पड़े .

संभाजी महाराज ने अपने 9 साल के अंतर्गत 120 लड़ाइयां लड़ी और हैरानी वाली बात तो यह है कि उसमें से एक भी लड़ाई नहीं हारे |

संभाजी का सबसे बड़ा दुश्मन था औरंगजेब |

गोवा से जुडी सबसे चौकाने वाली बाते | Goa Facts in Hindi

औरंगजेब को हमेशा लगता था कि संभाजी महाराज तो एक साधारण सा बच्चा है लेकिन 9 साल के अंतर्गत
संभाजी महाराज ने औरंगजेब को पूरी तरह से तहस-नहस कर डाला था |

जहां औरंगजेब की 8 लाख की सेना थी वही संभाजी महाराज की मात्र 20,000 लोगों की सेना थी |

औरंगजेब को यह बात तो समझ में आ गई थी संभाजी को हराना मुश्किल ही नहीं नामुमकिन है |

संभाजी के ऊपर सामने से तो वार नहीं कर सकते इसलिए औरंगजेब ने एक तरकीब सोची

संभाजी महाराज ने उनकी पत्नी के भाई गणोजी शिरके को किसी कारण से वेतन देने से इनकार किया |
और इस बात की खबर औरंगजेब को लग गई |और औरंगजेब ने इसी बात का फायदा उठाकर गणोजी शिरके को अपनी ओर खींच लिया |
और जब संभाजी महाराज किसी गुप्त मीटिंग के लिए अपने गुप्त रास्ते से जा रहे थे इस बात की खबर
गणोजी शिरके ने औरंगजेब को दे दी |

और तब औरंगजेब ने अपने सेना के 2000 लोगों को भेज कर संभाजी जी महाराज को पकड़ लिया |

जहां 8 लाख की सेना संभाजी महाराज का बाल तक बांका नहीं कर पाई वहा मामूली से 2000 लोगों की सेना ने
संभाजी महाराज को बंदी बना लिया
और कारण था गणोजी शिर्के ने दिया हुआ धोखा |

जब संभाजी महाराज को औरंगजेब के सामने लेकर गए तो औरंगजेब ने कहां ‘मेरी तीन बातें मान जाओ मैं तुम्हें छोड़ दूंगा ‘, धर्म परिवर्तन करो , मराठा किंगडम मेरे हवाले करो , पूरा सोना और गहिना वापस कर दो ,
और कितने तुम्हारी मदद की उसका नाम बता दो |

लेकिन संभाजी महाराज और कवि कलश के आंखों में इतना सा भी डर नहीं था.
संभाजी महाराज ने कहा एक हजार बार मरूंगा लेकिन जन्म अपने मराठा में ही लूंगा |

फिर क्या था औरंगजेब ने उनके ‘आंखों में मिर्ची पाउडर डालना शुरू किया’,
‘नाखूनों को उखाड़ना शुरू कर दिया’,’जलती सलाखों को आंखों में डालना शुरू कर दिया’,
फिर भी संभाजी महाराज और कवि कलश कुछ नहीं बोले |
और 40 दिनों तक यह सिलसिला चलता रहा |

औरंगजेब को पता चल गया था की संभाजी अभी भी कुछ नहीं बोलेगा
तब औरंगजेब ने सभाजी से कहा.

“ संभाजी मैं तेरे से हार गया “ अगर मेरी 4 संतानों में से एक भी तेरे जैसी होता न
तो पूरे देश को मुगल संतलन बना देता लेकिन संभाजी तेरे आगे मैं हार मान गया
और उसके बाद संभाजी महाराज के टुकड़े टुकड़े कर डाले .

6 COMMENTS

  1. I definitely wanted to develop a message in order to thank you for these nice facts
    you are showing on this site. My incredibly long internet look up has at
    the end been recognized with good ideas to exchange with my close friends.
    I ‘d believe that we website visitors actually are very much
    endowed to dwell in a very good community with many lovely professionals with great tips and hints.

    I feel somewhat privileged to have used the web pages and
    look forward to tons of more cool moments reading here.

    Thank you again for all the details.

  2. Hello, i believe that i saw you visited my blog thus i came to go back
    the prefer?.I’m trying to to find issues to improve my web site!I suppose its ok
    to make use of some of your ideas!!

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here